संविधान क्या है?

संविधान एक ऐसा लिखित दस्तावेज है जिसमें नियम और उप नियम लिखे हुए हैं जिसके अनुसार सरकार चलती है देश में यह राजनीतिक व्यवस्था का बेसिक स्ट्रक्चर बुनियादी ढांचा निर्माण करता है संविधान राज्य की विधायिका कार्यपालिका और न्यायपालिका की स्थापना करता है उन्हें शक्तियां प्रदान करता है उन्हें दायित्व देता है और जनता तथा राज्य के बीच के संबंधों को रेगुलेट करता है प्रत्येक सविधान उस देश के आइडियल ऑब्जेक्ट एंड VALUE का दर्पण होता है और सभी अन्य विधियां नियम कानून इसी पर आधारित होती है संविधान एक जड़ दस्तावेज नहीं होता बल्कि निरंतर बनते जाता है वर्षों से चली आ रही परंपराएं भी देश के शासन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं

संविधान क्या है
संविधान क्या है

संविधान का महत्व

संविधान यह बताता है कि कानून कौन बना सकता है समाज में शक्ति किसके हाथों में होगी यह संविधान हमें बताता है समाज में फैसला लेने की शक्ति किसके पास होगी तथा सरकार निर्माण कैसे होगा यह निर्धारित हमारा संविधान ही करता है तथा

यह समाज की आकांक्षाओं और समाज के लक्ष्य को भी बताता है एवं न्याय पूर्ण समाज की स्थापना हेतु सही परिस्थितियों के निर्माण को सुनिश्चित करता है

यह समाज को बुनियादी पहचान भी प्रदान करता है संविधान राज व्यवस्था की तीन प्रमुख अंग कार्यपालिका विधायिका एवं न्यायपालिका की स्थापना भी करता है तथा उनकी शक्तियों एवं अधिकार को परिभाषित भी करता है

यह राज्य के अंगों के अधिकार को मर्यादित कर उन्हें निरंकुश एवं तानाशाह होने से रोकता है

सविधान एक आईना है जिसमें उस देश के भूत भविष्य वर्तमान की झलक मिलती है संविधान और ACT के अनेक उपादान ब्रिटिश शासन से ग्रहण किए गए हैं ब्रिटिश द्वारा समय-समय पर अधिनियम बनाए गए थे और भारतीय सरकार प्रशासन की विधि यानी ढांचे को तैयार करती है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *