दिन भर खड़े रहने वाले जूनियर वकीलों पर पसीजा CJI चंद्रचूड़ का दिल

नई दिल्ली, 9 अप्रैल, 2024: भारत के प्रधान न्यायाधीश (सीजेआइ) डीवाई चंद्रचूड़ अपनी सहृदयता के लिए जाने जाते हैं। हर व्यक्ति की सुविधा का ख्याल रखना उनकी आदत है वह किसी को भी परेशानी में नहीं देख सकते। मंगलवार को सीजेआइ का दिल उन जूनियर वकीलों पर पसीज गया जो अपने वरिष्ठ के पीछे हाथ में लैपटाप लिए दिन भर अदालत में खड़े रहते हैं।

दिन भर खड़े रहने वाले जूनियर वकीलों पर पसीजा CJI चंद्रचूड़ का दिल
दिन भर खड़े रहने वाले जूनियर वकीलों पर पसीजा CJI चंद्रचूड़ का दिल

मुख्य बिंदु:

  • सीजेआइ ने जूनियर वकीलों के लिए अतिरिक्त कुर्सियां लगवाई हैं।
  • अदालत में लंच ब्रेक के दौरान भी उनकी सुविधा के लिए स्टूल लगाए गए हैं।
  • जूनियर वकीलों को सुनवाई में बैठने के लिए अब अधिक सुविधा मिलेगी।

सारांश: चंद्रचूड़ ने जूनियर वकीलों के लिए अदालत में अतिरिक्त कुर्सियां लगवाकर उनकी सुविधा को ध्यान में रखा। यह कदम न केवल उनकी मानवीयता को दर्शाता है बल्कि अदालती प्रक्रिया में न्याय की निष्ठा को भी प्रकट करता है।